कन्या राशि राशिफल 2018

इस राशि में पैदा हुए लोगो पर उनके बुध गृह का प्रभाव बहोत ही महत्वपूर्ण हो सकता है. वह बहोत ही बौद्धिक और व्यहवारिक होते है. 2018 की कुंडली कन्या राशि वालो के लिए यह बताती है की साल की शुरुआत बहोत ही सकारात्मक होगी परन्तु मध्य में अप्रिय मोड़ आने की सम्भावना है. पिछला साल भी इतना कुछ ख़ास नहीं था परन्तु जीवन ऐसे ही चलता है. इस राशि में पैदा हुए लोग बहोत ही यथार्थवादी और दुसरो की मदद करने वाले होते है. इसलिए वह अप्रशंस्नीय नहीं रह पाते.

2018 की शुरुआत आपके लिए आसान होगी. किसी तरह आप हर चीज़ में अव्वल अबे में सक्षम रहेंगे. दोस्त और परिवार के लोगो की तरफ ड़याँ दे. उन्हें यह एहसास कराये की आप उनकी इज़्ज़त करते है और वह आप पर भरोसा कर सकते है. आप उन्हें बहोत खुश करे. अगर आपके करियर की बात करे तो आप वह भी बहोत अच्छा प्रदर्शन करेंगे. प अपने नियोक्ता के विश्वास हासिल कर सकते हैं. वह आपको एक महान काम में भरोसा करेगा और आप उसे दिखा सकेंगे की आप क्या कर सकते है. इन सर्दियों के महीनों में बर्फीले सड़कों पर घायल होने से सावधान रहे. जल्दबाजी न करे बल्कि अपना समय ले.

कुंली, वसंत ऋतू में शांतिपूर्वक समय दर्शाती है. कन्या राशि वाले वास्तव में तर्कसंगत सोच की क्षमता का उपयोग करने के लिए प्रबंधन कर सकते हैं. समय का उपयोफ अधूरे काम और ड़याँ करने में करे. अतीत और भविष्य के बारे में सोचे और अपने दुश्मनो से दोस्ती का हाथ मिलाये. बाद में यह फायदेमंद कदम के रूप में साबित हो सकता है. विपरीत लिंग में इच्छा रखने वाले व्यक्तियों के लिए मरकरी शुभ होगा. आप खुल कर शिकार कर सकते है.

2018 के मध्य में समस्याओं के ढेर लगने शुरू होंगे. शुरू में यह समस्या व्यर्थ लगेंगी और आप इन्हे टाल देंगे. हलाकि बाद में ये उल्टा वार करेंगी. आपको अपने मुद्दो को दूर करने के लिए बहोत म्हणत करनी होगी. इस राशि में जन्मे लोग बहोत ही कड़ी म्हणत करने वाले होते है. कठिन समय पे काबू पाने के बाद आप थोड़ा आराम कर सकते है और बहार जा कर मज़े कर सकते है.

शरद ऋतु और सर्दियों में अन्य परिवर्तन होंगे. कोई आपके करियर को बर्बाद करने का प्रयास करेगा. यहां तक कि अपने करीबी लोगों के बीच में चौकस रहें.अधिक जानकारी और सबूत इकट्ठा करते हुए अपने दुश्मनो से खुद ही निपटे . इस समय आपके जीवन साथी का साथ सबसे महत्वपूर्ण होगा. कुंडली यह सलाह देती है की अपने प्रिया की प्रसंशा करे और न की स्वार्थी बने. वर्ष के अंत में और भी अधिक चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है.

 

प्रतिपुष्टिFacebook