23.5. 2019

इस साल की सबसे चमकदार पूर्णिमा के लिए तैयार रहें!

कभी कभी नजर आने वाला ब्लड मून खत्म हो चुका है, लेकिन फरवरी 19 को, हम सुपरमून नाम की पूर्णिमा का इंतजार कर सकते हैं जो उसके जितना खास तो नहीं है लेकिन उतना ही प्रभावशाली जरूर है |लोगों ने इसे यह नाम इसलिए दिया है क्योंकि जब यह अपनी परिक्रमा (ऑर्बिट) में उस स्थान पर पहुंचता है जिसमें वह पृथ्वी के सबसे करीब आ जाता है, तो सामान्य से ज़्यादा बड़ा और चमकदार नजर आता है - ज़ाहिर तौर पर इस साल की पूर्णिमाओं में सबसे ज़्यादा बढ़ा |

स्वाभाविक रूप से, इसका हम पर भी असर होगा, खास तौर पर सुरक्षा का एहसास, जिसकी कमी को हम सफ़ाई और आदेश के द्वारा पूरा करने की कोशिश करेंगे | इसका मतलब है कि आप जहां कहीं भी गड़बड़ी या उलझन देखेंगे उसे शायद पूरी तरह से सही करने की कोशिश करना चाहेंगे | हालांकि, ध्यान रखें कि नियंत्रण की कमी और अधूरी उम्मीदें होने पर अक्सर निराशा होती है | इसलिए, केवल यह स्वीकार करने की कोशिश करें कि कमियां भी हमारी जिंदगी का एक हिस्सा हैं |

 

प्रतिपुष्टिFacebook