23.5. 2019

बुध का पीछे हटना - क्या तैयारी करने की ज़रूरत है?

बुद्ध का पीछे हटने का समय, ज्योतिषियों के बीच बहुत लोकप्रिय घटना नहीं है, यह 6 मार्च को शुरू हुआ था और 28 मार्च तक जारी रहेगा। इसे अक्सर बुध के पीछे जाने के रूप में संदर्भित किया जाता है, क्योंकि यह इस समय पीछे की तरफ आता हुआ दिखाई देता है । हालांकि, यह बुध के कारणवश होने वाली सिर्फ एक प्रकाशीय गलतफहमी है, जो बुध की परिक्रमा पथ्वी से छोटी होने के वजह से होती है । हम इस घटना को इस वर्ष दो बार और देख पायेंगे, 8 वीं से 31 जुलाई तक और 31 अक्टूबर से 19 नवंबर तक ।

बुध संचार, सोच, साथ ही यात्रा से जुड़ा होता है। इसलिए, इसका पीछे आने का चरण हम में से प्रत्येक के जीवन पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालता है - जो की दुर्भाग्य से, एक नकारात्मक रूप में होता है । इस समय के दौरान, बुध अशांति पैदा करता है जिसकी वजह से हमारे आसपास के लोगों के साथ बात करना मुश्किल हो जाता है। इसलिए, उस समय नई परियोजनाएं, सम्बंध या दोस्ती शुरू करने की सलाह नहीं दी जाती है । इसके बजाय, थोड़ा इंतज़ार करें और अपने जीवन के बीते हुए पिछले महीनों का अवलोकन करने के लिए इस अवधि का इस्तेमाल करें और उसके अनुसार आने वाले चरणों की योजना बनाएं ।

 

प्रतिपुष्टिFacebook