6.4. 2017

ज्योतिष में भवन

हालाँकि जन्म कुंडली में ज्योतिषीय भवन का गुण अक्सर तर्कसंगत होता है, हर ज्योतिषी को इसका उपयोग करना पड़ता है|ज्योतिष के विकास के दौरान भवन की कुछ प्रणाली बनाई गई हैं - प्लेसीडस, कोच और रेजीओमंटनस या सौर भवन की व्यवस्था), उनमें से कुछ अभी भी उपयोग में ली जा रही हैं। हालांकि इन प्रणालियों के काफी अंतर हैं, काफी बड़े, वे हमेशा मुख्य बात पर सहमत होते हैं। भवन की संख्या हमेशा बारह होती है और आरंभिक (प्रथम) घर हमेशा असेंडेंट है - यह जन्मकुंडली के पूर्व में स्थित है। इसलिए, कुंडली को भवन से बारह भागों में विभाजित किया गया है। प्रत्येक भवन लोगों के जीवन के किसी विशेष भाग का प्रतीक है। जो ग्रह से भरा है वह एक खाली से ज्यादा महत्वपूर्ण है।

ज्योतिष में भवन

यहाँ सबसे अधिक इस्तेमाल की जाती सिस्टम रेजीओमंटनस में से एक के भवनों का विवरण दिया गया है:

पहला घर - यह प्रारंभिक भवन है, जो राशि के असेन्डन्ट को अपनाता है| यह हमारे भौतिक चरित्र का प्रतीक है, यह उसी दिन पैदा हुए अन्य लोगों से हमें अलग करता है (क्योंकि वे अलग-अलग समय में पैदा हुए थे)। यह हमारी पहचान को प्रभावित करता है, जिस तरह से हम कार्य करते हैं और दूसरों हमें किस नजरिये से देखते हैं, और हमारा व्यक्तित्व भी।

दूसरा घर - यह आम तौर पर भौतिक मूल्यों का प्रतीक है| जिस नजर से हम अपनी निजी संपत्ति और सुरक्षा या कल्याण को देखते हैं| यह हमारे खर्च को प्रभावित करता है और हम खुद और दूसरों के बारे में कितना ऊँचा सोचते हैं| इसका प्रभाव प्रकृति के साथ हमारे संबंध या रिश्तें बनाने में देखा जा सकता है।

तीसरा घर - यह शिक्षा और संचार का प्रतीक है। यह हमारी आध्यात्मिक क्षमता सोचने और दूसरों के साथ संबंध बनाने के साथ जुड़ा हुआ है| यह सामान्य रूप से हमारे यात्रा के दृष्टिकोण को प्रभावित करता है (उदाहरण के लिए ज्ञान के लिए यात्रा)। इस घर के कारण आपमें साहस की भावना आती है और समाज में रहने के दौरान दूसरों के साथ अच्छी तरह से मिल कर रहना होतो है|

चौथा घर - यह हमारे घर या जड़ों का प्रतिनिधित्व करता है | यह बस एक ऐसी जगह है जहाँ हम सुरक्षित महसूस करते हैं और स्वतंत्र रूप से कार्य कर सकते हैं। इसे एक घर या एक इमारत का प्रतीक होना जरूरी नहीं है, यह एक व्यक्ति को भी प्रतीक बना सकता है, जिसके साथ हम इन भावनाओं को महसूस करते हैं, जिनके साथ हम अच्छा महसूस करते हैं। यह संपत्ति या माता-पिता से भी संबंधित है|

पांचवां घर - यह खुद को अभिव्यक्त करना और रचनात्मकता की क्षमता का प्रतीक है| यह हमारे अस्तित्व को अमर करने और हमारे पीछे कुछ छोड़ने के आवेग का प्रतिनिधित्व करता है। यह रूचियाँ, कलात्मक गतिविधियाँ और बच्चे से संबंधित हैं। यह स्वयं को समझनाऔर दूसरों से अंतर करने का एक प्रयास है|

छठा घर - यह कार्य, कर्तव्यों और हमारे स्वास्थ्य का प्रतीक है। यह दूसरों के साथ हमारे संबंधों को प्रभावित करता है, खासकर जब अधीनता की बात आती है| यह हर रोज़ के व्यावहारिक कार्यों, और कार्यस्थल पर संबंधों से जुड़ा हुआ है| यह हमारे स्वास्थ्य के प्रति हमारे दृष्टिकोण और इसकी देखभाल करने की क्षमता को प्रभावित करता है।

सातवा घर - यह सेटिंग राशि का घर, वंशज, व्यक्तिगत और अंतरंग रिश्तों का प्रतीक है| यह उन व्यक्तियों का प्रतिनिधित्व करता है जो हमारे लिए बहुत करीबी हैं और हम उनके साथ किस प्रकार के सम्बन्ध रखते हैं। यह हमारी सामाजिक चेतना और समायोजित करने की क्षमता से संबंधित है। इस प्रकार, इस घर का प्रतिक एक आदर्श साथी का प्रतिनिधित्व करता है, जिससे हमें आकर्षित होना चाहिए।

आठवा घर - यह हमारी सभी जरूरतों की पूर्ति का प्रतीक है| यह हमारी मानसिकता को बहुत प्रभावित करता है| इस घर के लिए रिश्तेदार और संपत्ति (और इसका निर्माण) महत्वपूर्ण हैं| यह अक्सर गुह्यविद्या, जादू और कल्पना के साथ जुड़ा हुआ है।

नौंवा घर - यह यात्रा, शिक्षा और जीवन के दर्शन का प्रतीक है। यह हमारी हर समय सुधार करने की इच्छा का सन्दर्भ है। यह सामान्य रूप से दीर्घकालिक लक्ष्यों, योजनाओं और भविष्य का इलाक़ा है। धर्म, चर्च और कानून भी यहाँ हैं। यह साहसिक और सामाजिक प्रकृति को भी समर्थन करता है|

दसवा घर - यह हमारे कैरियर, प्रभाव और प्रतिष्ठा का प्रतीक है। यह समाज में एक नई पहचान हासिल करने और सम्मान के अधिकारी बनने की इच्छा का प्रतिनिधित्व करता है। यह काम, श्रेणी में हमारी स्थिति और हमारी प्रतिष्ठा से संबंधित है| यह राष्ट्रीय और अन्य दूरगामी मामलों को प्रभावित करता है।

ग्यारहवा घर - यह दोस्ती, समाज और आदर्शों का प्रतीक है| यह न केवल हमारी संकलन करने की क्षमता, लेकिन हमारी इच्छा, लक्ष्यों और उम्मीदों को भी संदर्भित करता है। जिन लोगों को हम अपने पुरे जीवन में मिलते हैं और जो हमारी सहायता करते हैं या हमारी ज़िंदगी को प्रभावित करते हैं, वे भी इस घर से संबंधित हैं।

बारहवा घर - यह अवचेतन मन, भावनाओं और रहस्यों का प्रतीक है| यह मुसीबतों और प्रतिबंधों का एक क्षेत्र है। इसके अलावा, यह वे भावनात्मक समस्याओं, असत्य और कठिनाइयों को प्रभावित करता है, जिन्हें हमें दूर करना है। यह हमें दुनिया को यथार्थ में देखने की अनुमति देता है| यह हमें अपने रोज़मर्रा के जीवन से दूर करता है और कल्पना का समर्थन करता है।

 

प्रतिपुष्टिFacebook